Upcrimecontrol.com News Portal inauguration in Jhansi by Chief Secretary UP Govt. (Lucknow) Sri Alok Ranjan

लुटेरा गैंग का फरार सरगना असलाह सहित गिरफ्तार….

पिछले दिनों पूंछ थाना इलाके में हुयी लूट की घटना में फरार चल रहे लूट गैंग के सरगना को पकड़ लिया गया। पकड़े गये बदमाश के पास से एक तमंचा व लूट का माल बरामद किया गया है। इसकी जानकारी देते हुये एसपी सिटी ने बताया कि पकड़े गये लूटेरे के दो साथी पहले ही पकड़ गये थे। अब फरार लूटेरा भी पकड़ गया। जिसके खिलाफ कार्रवाही करते हुये जेेल भेज दिया गया।

ऐसे मिली पकड़ने में सफलता

झांसी एसपी सिटी दिनेश कुमार ने जानकारी देते हुये बताया कि जनपद में फरार और वाछित अपराधियों की तलाश में एसएसपी मनोज तिवारी के निर्देश पर विभिन्न थानों की पुलिस ताबड़-तोड़ छापे मार रही है। इसी क्रम में पूंछ थाना पुलिस भी आरोपियों की तलाश में जुटी हुयी थी। तभी उसे जानकारी हुयी कि पिछले दिनों हाई-वे पर हुयी लूट का मुख्य सरगना हाईवे साक्षी ढाबा के पास है। सूचना को गम्भीरता से लेते हुये पूंछ थाने की पुलिस अपने हमराल पुलिस के बल के साथ बताये गये स्थान पर पहुंची। जहां उन्हे लूट का मुख्य सरगना नजर आया। पुलिस को देख वह भागने का प्रयास करने लगा। जिसे किसी प्रकार पुलिस ने पकड़ लिया और तलाशी ली। तलाशी के दौरान लूटेरे के पास से लूट का 7500 रुपये नकद व 315 बोर का तमंचा व एक जिन्दा कारतूस बरामद किया। पकड़े गये लूटेरे अपना नाम गब्बर उर्फ गौरीशंकर पुत्र हरिदास निवासी सोपान बड़ेरा थाना पण्डोखर दतिया बताया।

ऐसे की थी घटना

एसपी सिटी के अनुसार पकड़े गये लूटेरे गब्बर उर्फ गौरी शंकर ने बताया कि 30 दिसम्बर 2015 को पूंछ थाना इलाके ग्राम खिल्ली के नजदीक एक कार चालक की गाड़ी पंचर हो गयी थी। जिसका लाभ उठाकर उसने अपने साथी महेन्द्र और चन्द्रपाल के साथ कार में सवार लोगों से 35 हजार रुपये नकद और सोने के जेबरात लूट लिये थे। इसके बाद गुरसरांय थाना क्षेत्र में20 मई 2016 को ग्राम भण्डेरी पुलिया के नजदीक से एक बाइक सवार दम्पति से 700 रुपये नकद व सोने के आभूषण लूटे थे। इसके अलावा इन लूटेरों ने 26 मई2016 को समथर थाना क्षेत्र में भी लूट की घटना को अंजाम दिया है।

एसपी सिटी के अनुसार इन लूट के दो आरोपी महेन्द्र और चन्द्रपाल को पुलिस ने पहले ही पकड़ने में सफलता हासिल कर ली थी। जबकि पकड़ा गया आरोपी रात्रि का लाभ उठाकर भागने में सफल हो गया। पकड़े गये लूटेरे के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाही शुरु कर दी है।